ऐ लड़की सुनो तुम


ऐ लड़की, सुनो तुम
ये जो दुनिया कह रही है ना
बाहर ना निकलना, लोग बड़े खराब है
बस सुनकर यकीन ना कर लेना
बाहर निकलकर देखना।

खूबसूरत बनकर निकलना
बस याद रहे खूबसूरती में सुंदर कपड़े मैचिंग इयररिंग्स, मैचिंग सैंडल्स नही
तो सवाल पूछती आँखों में आँखे डालने की हिम्मत,
बकवास करते लोगो को जवाब देकर चुप कराने की हिम्मत और
अपनी शक्ति को भी जोड़ना।

बताना उन्हें की लाज लज्जा शर्म हया ही नही
हिम्मत, आज़ादी,शक्ति भी
तुम्हारा गहना है और
हर उस गहने से खूबसूरत है जो तुम्हे सजाता है।

कोई रोके तुम्हे तो लड़ना तुम
बिना डरे लड़ना जमके लड़ना
अपने हर उस डर से लड़ना जो तुम्हे कमज़ोर बनाए
जो तुम्हे अपना हक़ ना लेने दे
आगे बढ़ने ना दे और
जीने की आज़ादी ना दे।

लड़ना अपने सपनो के लिए बिना हिचकिचाए
लड़ना अपनी पहचान के लिए
खुदके अपने नाम के लिए
लड़ना अपने मन की दुनिया सजाने के लिए।

ना साथ दे कोई पर विश्वास हो तुम्हे कि गलत तुम हो नहीं
तो लड़ना अकेले अपने उस विश्वास के लिए
लड़ना तुम आज कि
फिर लड़ना ना पड़े आने वाली पीढ़ी को
अपनी पहचान, अपने अधिकार, अपने नाम, अपनी हिफाजत,
अपनी आज़ादी,अपने सपनो के लिए।

ऐ लड़की, सुनो तुम निकलो घर के बाहर अपने लिए।

-स्नेहल वानखेड़े

Advertisements

3 comments

  1. Gosh… when will she?
    Cease to amaze!
    I hope not…ever.
    Not cease to stagnate!
    I hope not …ever.
    Cease to gaze!
    I hope not …ever.
    Not cease to hyperventilate!!
    I hope not …ever.
    Gosh… when will she?
    A vain attempt at trying to tell u what i just felt about your current post in the same voice…

    Like

  2. वाह! बहुत अच्छा संदेश दिया है, यह तो हर लङकी के मन की बात कह दी है। हर लङकी को ऐसा ही बनना चाहिए। हर पंक्ति में मेरे मन की बात लिखी है।

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s